कवियों को प्रात्साहित करने कवि सम्मेलन बेहद जरूरी : तांडेकर


शब्दशिल्प ने किया त्रैभाषिक कविसम्मेलन का आयोजन

वेब डेस्क। नागपुर। कवियों को प्रोत्साहित करने के लिए कवि सम्मेलन बेहद जरूरी है। यह विचार कवि प्रभाकर तांडेकर ने व्यक्त किए। नागपुर-शब्दशिल्प साहित्य, समूह, आर. के. प्रकाशन, नवोदित साहित्य सांस्कृतिक मंडल, नागपुर के संयुक्त तत्वावधान में 26,जुलाई,मंगलवार को दोपहर 3 बजे शब्दशिल्प कार्यालय अतकर ले-आउट,उमरेड रोड, नागपुर में त्रैभाषिक मुशायरा कविसम्मेलन का आयोजन किया गया था। वे इस समय कवियों की हौसला अफजाई करते हुए बोल रहे थे। वरिष्ठ कवि नागोराव सोनकुसरे की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में शायर अमानी कुरैशी और दैनिक भास्कर के डिजिटल डेक्स के उपसंपादक तजिंदर सिंह बतौर प्रमुख अतिथि कवि उपस्थित थे। इस अवसर पर प्रभाकर तांडेकर, प्रा. विनय पाटील, प्रा. प्रकाश भोंडे, चरणदास वैरागडे, मुजतर हयात, टीकाराम साहू, ऊर्जा रजनी, रोशनी गणवीर और कलाम अहमद खान ने अपनी रचनाएं पेश की। संचालन और आभार प्रदर्शन कलाम अहमद खान ने किया।।


Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.