सुख -सुविधाओं ने जिंदगी कर दी आसान लेकिन बना दिया आलसी


अक्सर हम अपने आलस की वजह से आज के काम को कल पर टाल देते हैं लेकिन आज का काम आज ही कर लेने से पूरे दिन का रूटीन ठीक होता है। आलस्य ही हमारा सबसे बड़ा दुश्मन होता है। जिसका असर हमारे काम पर पड़ता है। जीवन में सफलता हासिल करने के लिए हमें स्फूर्ति से काम करना चाहिए। आलस केवल एक सोच है जो आप पर हावी हो जाए तो आप नाकामयाबी की राह पर चल पड़ेंगे। आज हमारे पास जितने सुख भोगने के साधन गए हैं उतनी ही आलसी प्रवृत्ति भी बढ़ गई है। आज हमारे पास हर तरह की सुविधा है। फोन,एसी,शानदार गाड़ियां और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स जिन्होंने हमारा जीवन कितना आसान कर दिया है। लेकिन इतने साधन होने के बाद भी हम आलस नहीं छोड़ रहे हैं। आज एसी या टीवी का रिमोट उठाने के लिए भी हम एक जगह से नहीं उठना चाहते। लेकिन यही आलस हमारी सफलता के बीच दीवार बनकर बना है। एक समय था जब महिलाएं सुबह अपने घर के सभी काम निपटाकर खेतों में भी काम करने जाती थी। जब उनके पास इतनी सुविधाएं भी नहीं थी। इसके बावजूद वे बिना रुके काम करती थी। और आज हमारे पास सभी सुख-सुविधाएं हैं लेकिन फिर भी हम आलसी हो गए हैं। कपड़े धाने के लिए वॉशिंग मशीन, मिक्सर, फ्रीज और अन्य सुविधाओं से लैस मशीनें होने के बावजूद भी हमारे पास अपने ही काम करने का वक्त क्यों नहीं होता। पहले के समय में पुरूष भी अलसुबह से रात तक काम करने के बाद भी कोई शिकायत नहीं करते थे। लेकिन आज हम इतने ऐशोआराम में जिंदगी बिता रहे हैं। इसके बावजूद भी उस काम को कल पर ही टाल देते हैं। पहले लोग छोटी से छोटी चीज खरीदने के लिए भी बाजार जाते थे लेकिन आज हमारे मोबाइल में मौजूद एप्स ने ही इसकी जगह ले ली है। आज लोगों को सबकुछ ऑनलाइन चाहिए। वे थोड़ी-सी भी तकलीफ नहीं उठाना चाहते। कुछ कदम चलने के बजाय लोग गाड़ी से जाना पसंद करते हैं। सुविधाओं ने जिंदगी तो आसान कर दी है लेकिन इंसान को आलसी भी बना दिया है।

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.